सिकंदर कौन था | Sikandar In Hindi Full Details

सिकंदर कौन था | Sikandar In Hindi Full Details – दोस्तों आज के इस लेख में हम चर्चा करने वाले है की सिकंदर कौन था , हम इसमें सिकंदर से जुडी सभी बातो को is लेख में विस्तार से समझेंगे।

सिकंदर कौन था | Sikandar In Hindi

सिकंदर महान, जिन्हें अक्सर आलेक्जेंडर द ग्रेट (Alexander the Great) के नाम से जाना जाता है, एक मैसेडोनियन शासक थे जो लगभग 356 ईसा पूर्व से 323 ईसा पूर्व तक शासन करते थे। उनका शासन एशिया, यूरोप और अफ्रीका के विशाल इलाकों को आपसी जोड़ में लाया और उन्होंने एक विशाल साम्राज्य बनाया।

सिकंदर का जन्म 356 ईसा पूर्व में हुआ था। उनके पिता का नाम किंग फिलिप था, जो मैसेडोनिया का राजा था। सिकंदर ने अपने पिताजी के पश्चात राजा बनने के बाद बड़े अभियानों का संचालन किया और बहुत बड़े भूभागों को जीता। उनका प्रमुख अभियान भारतीय उपमहाद्वीप में हुआ था, जिसमें वे पोरस के साथ जल्दी हाइडस्पस की लड़ाई में विजयी हुए थे।

सिकंदर का अच्छूतनंदन भी कहा जाता है, क्योंकि उनका शासनकाल उनके मृत्यु के बाद भी विस्तारित हुआ और उनकी छाया द्वारा कई सालों तक उनके सिखाये गए सिद्धांतों का प्रभाव बना रहा।


सिकंदर भारत कब आया था और क्यों


सिकंदर महान ने भारतीय उपमहाद्वीप में अपना अभियान 326 ईसा पूर्व में शुरू किया था। उनका मुख्य उद्देश्य था उस समय के भारतीय राजा पोरस (जिन्हें पुरुषोत्तम विक्रमादित्य के रूप में भी जाना जाता है) के साथ संघर्ष करना और उन्हें जीतकर अपने साम्राज्य का विस्तार करना था।

सिकंदर का भारत प्रवास उनके पूर्वी विजयों के बाद हुआ और उसका मुख्य सम्प्रेषण ह्यदस्पेस (आज के सीतापुर, पाकिस्तान) क्षेत्र में हुआ। इस समय, सिकंदर ने पोरस के साथ ह्यदस्पेस लड़ाई में भारतीय राजा पोरस को हराया और उनको जीत का एक हिस्सा बनाया।

कुलमी नगर के प्रति अपनी दृष्टि बढ़ाते हुए, सिकंदर ने अधिक भूमि प्राप्त करने की चाह में अगले कई महीनों में विभिन्न भागों को जीता। हालांकि, उनका सैन्य लड़ाई के बाद थक गया था और उन्होंने आगे बढ़ने का निर्णय लिया और भारत से वापस लौट गए।

सिकंदर का भारतीय अभियान भारतीय इतिहास में महत्वपूर्ण घटना माना जाता है, लेकिन उसके बावजूद उसने भारतीय साम्राज्य का सीधा शासन नहीं किया और उसने विचारशीलता का दृष्टिकोण अपनाया जिससे उसके जन्नती यात्रा का प्रचलन हुआ।

सिकंदर का भारतीय अभियान उसकी अनूठी योजना, आद्यता, और वीरता के लिए भी मशहूर है। उन्होंने अपनी सेना के साथ अद्वितीय युद्ध अनुभव किया और ह्यदस्पेस लड़ाई में कुमारारी (आज के सीतापुर, पाकिस्तान) के राजा पोरस के साथ होने वाले युद्ध में उनकी ताकत और बुद्धिमत्ता को प्रमोट किया।

सिकंदर का भारत प्रवास उसकी मृत्यु के बाद सिकंदर के साम्राज्य का विभाजन का कारण बना, क्योंकि उसका सैन्य थक गया था और सीधे भारतीय उपमहाद्वीप का शासन नहीं कर सका। हालांकि, उसका यह प्रयास बाद में आने वाले समय में भारतीय साम्राज्यों के साथ संबंध बनाने में सहायक हुआ, जैसा कि आश्चर्यकर रूप से चंद्रगुप्त मौर्य के संबंध में हुआ।

सिकंदर का भारत प्रवास एक ऐतिहासिक घटना है जिसने स्थानीय सांस्कृतिक, राजनीतिक और सामाजिक परिवर्तनों को प्रेरित किया और उसने भारतीय उपमहाद्वीप के और उत्तरी क्षेत्रों के साथ गहरे संबंध स्थापित किए।


FAQs

प्रश्न : सिकंदर कौन थे?

उत्तर:- सिकंदर महान, जिन्हें “एलेक्सेंडर द ग्रेट” के नाम से भी जाना जाता है, मैसेडोनियन शासक थे जो 356 ईसा पूर्व से 323 ईसा पूर्व तक शासन करते थे। उन्होंने एक विशाल साम्राज्य बनाया और अपने यात्राओं में विश्व के बड़े हिस्सों को जीता।

प्रश्न : सिकंदर कब और कहाँ आये थे?

उत्तर:- सिकंदर का भारत प्रवास 326 ईसा पूर्व में हुआ था। उन्होंने ह्यदस्पेस नदी के किनारे हुई हाइडस्पस लड़ाई में भारतीय राजा पोरस से मिली थी, जिसे उन्होंने हाराया था।

प्रश्न : सिकंदर का भारत आगमन क्यों हुआ?

उत्तर:- सिकंदर का भारतीय अभियान उसके साम्राज्य का विस्तार करने का हिस्सा था। उन्हें शूरता, सेनाओं की शक्ति, और सामरिक कुशलता का परिचय कराने के लिए भी इस अभियान का आयोजन किया गया था।

प्रश्न : सिकंदर की मौत कैसे हुई?

उत्तर:- सिकंदर की मौत 323 ईसा पूर्व में हुई थी। उनकी मौत के पीछे कई कारण थे, जिसमें उनकी सेना के अधिक प्रयासों और उनके शारीरिक स्वास्थ्य की समस्याएं शामिल थीं।

प्रश्न : सिकंदर का साम्राज्य कितना समय तक बना रहा?

उत्तर:- सिकंदर का साम्राज्य उनकी मौत के बाद बड़ा हुआ, लेकिन उसका सीधा शासन नहीं था। उसका साम्राज्य कुछ उप-राजा और महान सैनिक अधिकारियों के बीच बाँटा गया और विभिन्न क्षेत्रों में स्थापित किए गए सत्रापियों के नेतृत्व में अलग-अलग हिस्सों में विभाजित हुआ।

प्रश्न : सिकंदर की यात्राएँ कैसी थीं?

उत्तर:- सिकंदर की यात्राएँ विश्व के विभिन्न हिस्सों में हुईं और उन्होंने बड़े भूभागों को जीता। उनकी प्रमुख यात्राएं एशिया, यूरोप, अफ्रीका, और भारतीय उपमहाद्वीप की ओर थीं। उनके यात्राओं ने भूगोल, सांस्कृतिक आदि में विभिन्न स्थानों का अध्ययन करने का अवसर प्रदान किया।

प्रश्न : सिकंदर द ग्रेट का नामकरण कैसे हुआ?

उत्तर:- सिकंदर को “द ग्रेट” या “महान” कहा जाता है, क्योंकि उनके यात्राओं, विजयों, और साम्राज्य के बढ़ते प्रभाव के कारण उन्हें उनके समय में अत्यंत महत्वपूर्ण और महान रूप में माना गया था।

प्रश्न : सिकंदर की मौत के पीछे कारण क्या थे?

उत्तर- सिकंदर की मौत के कई कारण थे, जिनमें उनके शारीरिक स्वास्थ्य की समस्याएं, लंबे यात्राएँ, और उसके द्वारा अपनी सेना के साथ युद्धों में हिस्सा लेने के बाद हुई थी।

प्रश्न : सिकंदर का संबंध चंद्रगुप्त मौर्य के साथ कैसे था?

उत्तर- सिकंदर का भारतीय अभियान बाद में आने वाले समय में चंद्रगुप्त मौर्य के साथ संबंध बनाने में मददगार रहा। चंद्रगुप्त मौर्य ने सिकंदर के सैन्यों की कमजोरियों का उपयोग करते हुए भारतीय साम्राज्यों को जीतकर मौर्य साम्राज्य की स्थापना की।

प्रश्न : सिकंदर के अनुयायियों ने उनकी मृत्यु के बाद क्या किया?

उत्तर- सिकंदर की मृत्यु के बाद, उनके साम्राज्य का विभाजन हुआ और उनके उप-राजा और सैनिक अधिकारियों के बीच संबंध टूट गए। इसके परिणामस्वरूप, उनका साम्राज्य कुछ साम्राज्यों में बाँटा गया और विभिन्न क्षेत्रों में स्थापित किए गए सत्रापियों के नेतृत्व में विभाजित हुआ।


Social Media से जुड़े;

Join TelegramJoin
Join WhatsApp GroupJoin
Join FacebookJoin
Join InstagramJoin
Google NewsFollow

1 thought on “सिकंदर कौन था | Sikandar In Hindi Full Details”

Leave a Comment